Showing posts with label Politician. Show all posts
Showing posts with label Politician. Show all posts

Monday 28 March 2022

jagat Prakash Nadda biography | wiki,bio

  

जगत प्रकाश नड्डा जी की जीवनी (jagat Prakash Nadda biography)

जगत प्रकाश नड्डा (जन्म 2दिसंबर 1960) एक भारतीय राजनीतिज्ञ और वकील हैं जो 20 जनवरी 2020 से भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष के रूप में कार्यरत हैं। वे जून 2019 से जनवरी 2020 तक भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष थे। 



नड्डा पूर्व केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री , और हिमाचल प्रदेश से राज्यसभा के सदस्य और भारतीय जनता पार्टी के संसदीय बोर्ड सचिव हैं । इससे पहले, वह हिमाचल प्रदेश सरकार में मंत्री थे । 

व्यक्तिगत जीवन(personal life)

नड्डा का जन्म 2 दिसंबर 1960 को एक हिंदू परिवार में पटना , बिहार में हुआ, उनके पिता का नाम नारायण लाल नड्डा और माता का नाम कृष्णा नड्डा है।  उनका एक भाई है जिसका नाम जगत भूषण नड्डा है। उनके पत्नी का नाम मल्लिका नड्डा है,नड्डा जी के दो पूत्र हरिश चंद्र नड्डा,गिरिश चंद्र नड्डा
 प्रकाश नड्डा जी का पुरा पता
ग्राम-विजयपुर पोस्ट-औहर तहसील-झडुआ जिल्ला-बिलासपूर हिमाचल प्रदेश

शिक्षा

उनकी शिक्षा सेंट जेवियर्स स्कूल, पटना में हुई । इसके बाद उन्होंने बीए किया । से पटना कॉलेज , पटना विश्वविद्यालय और LL.B. से शिमला हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय लॉ संकाय,, । एक बच्चे के रूप में, उन्होंने दिल्ली में आयोजित अखिल भारतीय जूनियर तैराकी चैम्पियनशिप में बिहार का प्रतिनिधित्व किया। नड्डा ने मल्लिका नड्डा से 11 दिसंबर 1991 को शादी की, तथा उनके दो बेटे है।

राजनीतिक करियर(political career)

  • 1993 में जगत प्रकाश नड्डा बिलासपुर से हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ें और विधायक के रूप में पदभार संभाला। 
  • 1998 फिर से विधायक के रूप में चुने गए। 2007 फिर विधायक के रूप में चुने गए।
  • 1991 में जगत प्रकाश नड्डा जी को भारतीय जनति यूवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में चुने गए।
  • 2007-2010 तक में जगत प्रकाश नड्डा जी केन्द्रीय वन पर्यावरण विद्यान और प्रोद्योगिकी मंत्री के रूप में नियुक्त किया गया।
  • 2012 में हिमाचल प्रदेश के रिज्यसभा के सदस्य के रूप में नियुक्ति हुई।
  • 2014 के केबिनेट बैठक में नरेंद्र मोदी जी ने जगत प्रकाश नड्डा जी को स्वास्थ्य मंत्री का पदभिर सम्हालने को दिया।
  • जून 2019 में भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारि अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था। और
  • 20 जनवरी 2020 को जगत प्रकाश नड्डा जी को सर्वसम्मति से भाजपा  का राष्ट्रीय अध्यक्ष नियुक्त किया गया है।

एनईईटी परीक्षा पर हुआ विवाद (NEET Exam )

2016 में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा द्वारा एनईईटी (NEET) परीक्षा पर लिए गए एक फैसले को लेकर काफी हंगामा हुआ था। दरअसल सरकार द्वारा बनाए गए एनईईटी परीक्षा से जुड़े एक अध्यादेश के मुताबिक सभी प्राइवेट मेडिकल कॉलेज और संस्थान को एनईईटी के दायरे के अंतर्गत लिया गया था,जिसका काफी विरोध हुआ था।

नड्डा की उपलब्धियां (Nadda Achivements)

जगत प्रकाश नड्डा ने अपनी पढ़ाई के दिनों में दिल्ली में आयोजित अखिल भारतीय जूनियर स्विमिंग चैम्पियनशिप में बिहार राज्य की ओर से प्रतिनिधित्व किया था,इतना ही नहीं वो हिमाचल प्रदेश के ओलंपिक संघ के राष्ट्रपति भी थे,हाल ही में जे पी नड्डा को विश्व तंबाकू नियंत्रण के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन से विशेष मान्यता पुरस्कार प्राप्त हुआ था।
 पश्चिम बंगाल , जगत प्रकाश नड्डा एक नई योजना शुरू की इक Muthi Chaawal योजना

जगत प्रकाश नड्डा जी की सालाना आय

जगत प्रकाश नड्डा की मासिक आय 1लाख और अन्य सरकारी भत्ते है जिसे मिलाकर उनकी सालाना आय 12 लाख रुपए है,तथा कई जमीनें और अन्य प्रकार की प्रोपर्टी जैसे 50 लाख का बिलासपुर में आवासीय भवन 39 लाख का कुल्लु में आवासीय भवन ऐसे सभी प्रकार की प्रोपर्टी को मिलाकर जगत प्रकाश नड्डा जी के पास 3.45 करोड़ की संपत्ति है।

FAQ

Q-जगत प्रकाश नड्डा जी का जन्म कब और कहां हुआ था?
Ans-नड्डा का जन्म 2 दिसंबर 1960 को एक हिंदू परिवार में पटना , बिहार में हुआ।

Q-जगत प्रकाश नड्डा काहा के मुल निवासी या पुरा पता है?
Ans-ग्राम-विजयपुर पोस्ट-औहर तहसील-झडुआ जिल्ला-बिलासपूर हिमाचल प्रदेश

Q-जगत प्रकाश नड्डा जी के कितने भाई हैं?
Ans-एक भाई हैं

Read more ...

Bhupesh Baghel biography |DOB,Wiki

 भूपेश बघेल (जन्म 23 अगस्त 1961) एक भारतीय राजनीतिज्ञ हैं जो छत्तीसगढ़ के तीसरे और वर्तमान मुख्यमंत्री है, भूपेश बघेल का जन्म 23 अगस्त 1961 को दुर्ग जिले में हुआ था।  वह नंद कुमार बघेल और बिंदेश्वरी बघेल के पुत्र हैं। उनके परिवार का प्राथमिक व्यवसाय कृषि है। भुपेश बघेल ने मुक्तेश्वरी बघेल से शादी की है। इनका एक बेटा और तीन बेटियां हैं। 



भुपेश बघेल जी का राजनितिक करियर

  • भूपेश बघेल ने अपने राजनितिक करियर की शुरुआत 1985 को भारतीय युवा कांग्रेस में सामिल हो कर किया।
  • 1990को दुर्ग जिले में भारतीय युवा कांग्रेस के अध्यक्ष बने और 1994 तक सेवा किया।
  • 1998 में उपाध्यक्ष के रूप में नियुक्त मध्यप्रदेश युवा कांग्रेस में हुआ जिसमें एक साल तक सेवा किये।
  • 1993 में पहली बार पाटन से मध्यप्रदेश विधानसभा के लिए चुने गए और फिर पांच बार पाटन में चुने गए।
  • दिसम्बर 1998 में दिग्विजय सिंह के मंत्री मंडल में राज्य मंत्री मुख्यमंत्री से संबंधित लोक सिकायत निवारण एमपी शासन के रूप में नियुक्त किया। ।
  • जनवरी 2000 को मध्यप्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के अध्यक्ष नियुक्त हुए,और जब छत्तीसगढ़ का स्थापना हुआ तब बघेल राजस्व लोक स्वास्थ्य राहत कार्य के मंत्री बने और 2003 तक सेवा में रहें।
  • 2003 में पाटन निर्वाचन क्षेत्र से छत्तीसगढ़ विधानसभा के सदस्य बने और 2008 तक विपक्ष के उपनेता थे।
  • 2004 में दुर्ग लोकसभा क्षेत्र से संसदीय चुनाव के लिए उम्मीदवार रहे।
  • 2009 में रायपुर में भी रायपुर लोकसभा संसद चुनाव में उम्मीदवार रहे।
  • 2014 से 19 तक भारत राष्ट्रीय कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष बने।
  • 2013 के चुनाव में पाटन विधानसभा सीट में भूपेश बघेल को जीत मिली।
  • 2014-15 में लोक लेखा समिति छत्तीसगढ़ सरकार के सदस्य बने।

भुपेश बघेल व्दारा सभाले गये पद 

1990-94अध्यक्ष, जिला युवा कांग्रेस कमेटी
  1. 1994-95उपाध्यक्ष, मप्र युवा कांग्रेस कमेटी (एमपी)
  2. 1993-2001सदस्य: एमपी विधानसभा अनुमान समितिसदस्य: विधान सभा के उड्डयन विभाग की एमपी सलाहकार समितिसदस्य: एमपी खाद्य और नागरिक आपूर्ति निगमनिदेशक: एमपी हाउसिंग बोर्डसदस्य: एमपी पिछड़ा वर्ग संगठनसदस्य: एमपी सैनिक बोर्ड
  3. 1993-2000सदस्य: एमपी विधान सभा
  4. 2000-2008 और 2013-अब तकसदस्य: छत्तीसगढ़ विधान सभा
  5. 1993-2008सदस्य: एमपी और सीजी विधानसभा क्षेत्र पाटन, जिला-दुर्ग (एमपी)
  6. 2003-2008उप नेता, कांग्रेस विधायक दल, छत्तीसगढ़दिसंबर 2013 - जून 2019अध्यक्ष, छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी
  7. 1996-वर्तमानअभिभावक, छत्तीसगढ़ मनवा कुर्मी समाज
  8. 2018–वर्तमानछत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री

भुपेश बघेल व्दारा चलाएं गए योजनाएं 

नरवा,गरव,घूरवा बारी-इस योजना का उद्देश्य आधुनिक और पुरानी परंपराओं के बिच संतुलन बनाना कृषि अर्थव्यवस्था को पुर्नजीवित करना है। इस योजना में जल संरक्षण घरेलू कचरा से जैविक खाद बनाना पशुपालन स्वयं के लिए उपभोक्ता संरक्षण जिससे अतिरिक्त आय मिल सककेगाा। नरवा-ईसका अर्थ नाला धाराओं से है जिससे जल संरक्षण और कृषकों के लिए सिंचाई का विकास करना है। अब तक 30000 नाला का पहचिन में आएं हैं।

मुख्यमंत्री भुपेश बघेल व्दारा चलाएं गए अभियान

मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान-छत्तीसगढ़ के महिलाओं और बच्चे उच्चतम मात्रा में कुपोषण और एनीमिया के सिकार है। माहात्मा गांधी के 150 वां जयन्ति के अवसर पर 2 अक्टूबर 2019 को इस अभियान को सुरू किया गया और इस योजना का उद्देश्य अगले 3 साल तक छत्तीसगढ़ को कुपोषण मुक्त बनाना है। 2020 तक लगभग 68 हजार बच्चे ओर महिलाओं को कुपोषण मुक्त किया है।

विवाद

अक्टूबर 2017 में भूपेश बघेल का नाम अश्लील सीडी विवाद में जोड़ा गया उन्होंने छत्तीसगढ़ के मंत्री के मंत्री राजेश मूणत के आपत्तिजनक फुटेज वाली नकली सीडी बांटने का आरोप का सामना करना पड़ा,सीबीआई ने भुपेश बघेल को पाया और 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। 

भुपेश बघेल के बारे में रोचक तथ्य 
  • 1993 से मुकेश बघेल छत्तीसगढ़ के मानव कुर्मी क्षत्रिय समाज के संरक्षक रहे हैं। 
  • न्यूनतम खर्च के साथ सामूहिक विवाह समारोह का आयोजन। 
  • उनकी पत्नी मुक्तेश्वरी बघेल प्रसिद्ध हिंदी लेखक नरेंद्र देव वर्मा के बेटी और आध्यात्मिक नेता स्वामी आत्मानंद की भतीजी है।
Read more ...